Apna Health kaise banaye

एक बड़ी प्रसिद्ध कहावत है "एक सेहत हजार नियामत "यानी एक स्वस्थ शरीर हजार वरदानों के समान होता है ।इस दुनिया में निरोगी काया से बड़ा कोई सुख नहीं हो सकता है ।
कोई भी व्यक्ति चाहे कितना ही धनी क्यों ना हो अगर वह अस्वस्थ रहता है तो सारे सुख और वैभव उसके लिए बेकार हैं ।
अस्वस्थ व्यक्ति किसी भी कार्य में रुचि नहीं ले पाता है और उसका स्वभाव भी चिड़चिड़ा हो जाता है ,वहीं दूसरी ओर एक स्वस्थ व्यक्ति हमेशा प्रसन्नता और स्फूर्ति से भरा होता है ।
लेकिन स्वस्थ कैसे रहें हमारे लिए यह जानना भी बहुत जरूरी है -
अच्छे स्वास्थ्य का आधार स्वच्छता है हम जानते हैं कि गंदगी में रोगों के कीटाणु पनपते हैं अतः हमें गंदगी से दूर रहना चाहिए ,शरीर को गंदगी से बचाने के लिए प्रतिदिन स्नान करना बहुत जरूरी है दरअसल हमारे शरीर के रोम छिद्र पसीने और गंदगी के कारण बंद हो जाते हैं जिससे हमारी त्वचा के द्वारा शुद्ध हवा हमारे शरीर के भीतर नहीं जा पाती है स्नान करने से शरीर की सारी गंदगी धुल जाती है और रोम छिद्र भी खुल जाते हैं इतना ही नहीं स्नान करने से हमें ताजगी महसूस होती है स्नान के बाद हमेशा धुले और साफ कपड़े पहने चाहिए।

 हमें हमेशा अपने बढे हुए नाखून काटने चाहिए क्योंकि बढे हुए नाखूनों में गंदगी मैल आदि जमा हो जाते हैं जो भोजन के साथ हमारे पेट में चले जाते हैं इससे पेट की बीमारियां होने का खतरा रहता है।

 संक्रमण क्या है और यह कैसे फैलता है इसकी जानकारी के लिए नीचे का लिंक अवश्य पढ़ें
Infection and diseases

हमारे शरीर में हमारी आंखें प्रकृति की सबसे बड़ी देन है अतः इन्हें गंदे हाथों से कभी नहीं छूना चाहिए अपनी आंखों को कभी भी रगड़ना भी नहीं चाहिए। किताबों को बहुत पास या दूर से पढ़ने या लगातार बहुत देर तक TV देखते रहने से आंखों पर जोर पड़ता है इससे हमारी आंखें कमजोर हो सकती हैं अतः दिन में दो-तीन बार आंखों पर ठंडे पानी के छींटे डाल कर उन्हें धोना चाहिए।
 दिन में एक बार हरियाली को या रात में तारों को निहार कर आंखों  का व्यायाम भी करना चाहिए।
हमारे शरीर में दांतो का भी महत्व कम नहीं है अतः हमें अपने दांतो की स्वच्छता का भी पूरा ध्यान रखना चाहिए जब भी हम कुछ खाते हैं तो वह हमारे दांतो में चिपक जाता है मीठी और चिपचिपी चीजें तो दातों की दुश्मन होती हैं इसलिए कुछ भी खाने के बाद अच्छी तरह से कुल्ला करना चाहिए ।
सुबह उठने के बाद और रात को सोने से पहले दांतों की सफाई जरूर करनी चाहिए दांतों में गंदगी रहने से उनमे सड़न पैदा हो सकती है और कीड़े भी लग सकते हैं यही कीटाणु भोजन के साथ मिलकर पेट में जाकर पेट के रोगों का कारण बन जाते हैं।

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए पोस्टिक आहार लेना भी अति आवश्यक है ।
 चिप्स, Burger, Pizza noodles या अन्य जंक फूड खाने में भले ही स्वादिष्ट लगते हैं लेकिन स्वास्थ्य की दृष्टि से यह बिल्कुल भी लाभकारी नहीं होते हैं ।
हरी सब्जियां, फल ,दूध, दाल ,चावल, रोटी आदि हमें पौष्टिक तत्व प्रदान करके हमारे शरीर को निरोगी और स्वस्थ रखने में सहायक होते हैं ।

स्वस्थ रहने के लिए हमारा भोजन कैसा हो इसकी जानकारी के लिए नीचे का लिंक अवश्य पढ़ें
OurFood

शरीर को स्वच्छ और स्वस्थ रखने के साथ-साथ हमें अपने घर और आसपास की साफ सफाई का भी ध्यान रखना चाहिए गंदगी के कारण मक्खियां और मच्छर भी पनपते हैं अतः हमें अपने चारों  ओर साफ सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए। इसके अलावा कहीं बाहर से आने के बाद तथा खाने से पहले और बाद में हमें अपने हाथ अच्छी तरह से धोने चाहिए।
 घर के पास बहने वाली नालियों को भी साफ रखना चाहिए तथा कूड़े-करकट या गंदगी का ढेर नहीं लगाना चाहिए क्योंकि इनमें मक्खियों और मच्छरों के पनपने का खतरा होता है जो संक्रामक बीमारियां फैलाते हैं और स्वस्थ बनने के लिए स्वच्छता के अतिरिक्त खेलकूद और व्यायाम भी अति महत्वपूर्ण होते हैं प्रत्येक व्यक्ति को दिन में कुछ समय के लिए खेलकूद ,खुली हवा में घूमना ,योग करना अथवा अन्य प्रकार के व्यायाम जरूर करनी चाहिए इनके अलावा खुलकर हंसने और सब के साथ प्यार से मिलजुल कर रहने से भी हमें स्वस्थ रहने में मदद मिलता है ।
इसे भी पढे
Anaemia in hindi

यह बात हमेशा याद रखें कि अच्छा स्वास्थ्य जीवन में आगे बढ़ने के लिए आवश्यक है क्योंकि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन का विकास होता है।
 शरीर के स्वस्थ रहने में हमारे विचारों का भी महत्वपूर्ण योगदान होता है कभी भी नकारात्मक विचार मन पर हावी ना होने दें सदैव सकारात्मक विचार बनाए रखें विचारों का स्वास्थ्य पर बहुत ही प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है ।
           बी पॉजिटिव बी हेल्दी
Previous
Next Post »