How to increase weight in 15 days

दुबले पतले व्यक्ति  अपने आपको समाज से कटा हुआ महसूस करते हैं  ।वह अपनी पर्सनालिटी को लेकर चिंतित रहते हैं ।ऐसे लोगों के मन में एक हीन भावना  बैठ जाती है , जिससे उनका अंदरूनी विकास भी रुक जाता है  इसीलिए  वजन कैसे बढ़ाएं  इस विषय में हम आज के लेख में आपके सामने कुछ  तथ्य प्रस्तुत कर रहे हैं _____
वजन घटाना उतना मुश्किल नहीं होता जितना कि वजन बढ़ाना इतना ही नहीं जन्म से ही किसी दुबले-पतले स्त्री पुरुष के लिए वजन बढ़ाना टेढ़ी खीर होती है ।पतले व्यक्ति कुपोषित ,भुखमरे लगते हैं ।जिन्हें कुछ भी रास नहीं आता। इस पतलेपन के अनेक कारण होते हैं ।
बहुत से व्यक्ति वजन बढ़ाने के चक्कर में अत्यधिक विटामिनों का प्रयोग करने लगते हैं विटामिनों के प्रयोग से होने वाली हानि एवं लाभ के बारे में जानकारी के लिए नीचे का लिंक अवश्य पढ़ें
Effects and side effects of vitamins


कभी यह किसी बीमारी की वजह से तो कभी-कभी ऑपरेशन के कारण होता है ।बहुत से व्यक्तियों में पतलापन आनुवंशिक होता है ।जबकि माता-पिता दोनों ही पतले होते हैं ।
एंडोक्राइन ग्रंथ की विसंगतियों के कारण भी व्यक्ति पतला हो जाता है ऐसी स्थिति में विशेषज्ञ द्वारा जांच करवानी चाहिए ।
जबकि कुछ व्यक्ति अचानक ही बेवजह पतले हो जाते हैं जबकि उनकी भूख बरकरार रहती है ऐसी स्थिति में भी फौरन डॉक्टरी परीक्षण करवानी चाहिए।
 हमारा मुख्य लक्ष्य तो प्राकृतिक रूप से ऐसे ही स्त्री पुरुष हैं जो वजन बढ़ाने के लिए अत्यधिक व्यग्र रहते हैं ।ऐसे चिंताओं के साथ जन्म लेते हैं तथा उनकी प्रकृति उत्तेजनापूर्ण तथा ऊर्जस्वित होती है ।उनकी आंतें इतनी अति सक्रिय होती हैं कि भोजन पूरी तरह पाचन के लिए ठहर भी नहीं पाता ।

रक्त की कमी के कारण भी मनुष्य का विकास रुक सा जाता है रक्त की कमी के कारण कौन-कौन से रोग होते हैं और इसे कैसे दूर किया जा सकता है इसकी जानकारी के लिए नीचे का लिंक अवश्य पढ़ें

Anaemia in hindi

-----------मोटे होने की आवश्यक  प्रक्रियाएं -----
दिन में नियमित नियमित समय पर तीन बार भोजन करें ,सुबह का नाश्ता भरा पूरा हो तथा दोपहर और रात का खाना स्वयं में पूर्ण हो ।इन के मध्य में नाश्ता या कलेवर करना अच्छा रहता है ।मगर नाश्ते की वस्तुएं ऐसी ना हो जो नियमित खाने की भूख खत्म कर दें ।बीच के समय में फलों का रस ,दूध, फल ,केक या आइसक्रीम बेहतर रहती है।

संतुलित भोजन एवं हरी सब्जियों और फलों आदि के सेवन से वजन का वृद्धि होना



 अगर आपकी भूख कम हो तो खाने को रुचिकर बनाएं तथा आकर्षक ढंग से परोसे किंतु भूख बढ़ाना वैसे ही उतना आसान नहीं है जितना कि वजन घटाने के लिए भूख कम करना कठिन ।
किंतु पेट भरने के लिए तो खाना ही पड़ेगा अगर जरूरी समझे तो स्वयं पर कोई मनोवैज्ञानिक उपाय अपनाएं। वैसे प्रारंभ में खाने की मात्रा जरा सी बढ़ा दें और फिर धीरे-धीरे उसकी मात्रा बढ़ाते जाए ।साथ ही अल्प कैलोरी वाली चीजों के स्थान पर ज्यादा कैलोरी वाली वस्तुएं खाएं इन सब बातों में समय तो लगेगा जीत आपकी ही होगी ।
भोजन को भली प्रकार चबाते हुए आराम से खाएं तथा उस का आनंद उठाएं ।खाने के समय शांत व चिंता मुक्त रहें ।चिंताएं पतलेपन का मुख्य कारण होती हैं ।विभिन्न विषयों पर बातचीत करके चिंता के स्रोत से अपना ध्यान हटा लें ।
धूम्रपान भूख को खत्म करता है इसलिए धूम्रपान बंद कर देंं।अगर   धूम्रपान कर ना ही है तो खाने के बाद करें।
पर्याप्त  आराम करें ,दोपहर की तथा रात की अच्छी नींद से वजन बढ़ता ही है साथ ही व्यक्ति ताजा भी नजर आता है ।हो सकता है दोपहर में आप एक घंटा समय  न निकाल पाते हो मगर ताजगी के लिए तो 15 मिनट ही पर्याप्त है ।अगर आप अत्यंत व्यस्त हैं तो सोने से पूर्व की झपकी आदत आपको मुफ्त की ताजगी देती है ।
------मोटापा बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ -------
चीनी ,मीठी वस्तुयें, मिठाई ,हलवा , केला, शहद ,केक ,पेस्ट्री ,ब्रेड, बिस्किट ,पुडिंग ,पराठे ,पूड़ी,
 तली वस्तुएं ,क्रीम ,मक्खन घी।
सूअर,बत्तख ,सभी मोटे मांस, बेकन, तेल में डिब्बाबंद मछली ।
मीठा शराब ,मीठा गैस भरा पीने का पानी ।
सूखे मेवे ,केला, अंगूर ,आलू ,आलू मटर, चावल ,
दाल
काडलीवर  आयल आदि।
स्वस्थ रहने के लिए भोजन का संतुलित होना भी बहुत आवश्यक होता है हमारा भोजन कैसा हो इसकी जानकारी के लिए नीचे का लिंक अवश्य पढ़ें
Our food


आज के अंक में बस इतना ही
Previous
Next Post »