What is important marriage or career

 हेलो दोस्तों __आज के इस ब्लॉग में हम आपको एक ऐसी सच्चाई बताएंगे जोकि आज के इस बदलते परिवेश में आप को आईना दिखाने का कार्य करेगा ।
दोस्तों आज के दौर में लोगों की जीवन शैली रहन सहन सभी कुछ बदल चुके हैं आज सब की प्राथमिकता पढ़ाई-लिखाई कर नौकरी प्राप्त करने की हो गई है ,परंतु वे यह नहीं जानते की पढ़ाई-लिखाई की कोई उम्र सीमा नहीं होती ।
परंतु आयुर्वेद के अनुसार 30 वर्ष की अवस्था के बाद मनुष्य की  जोश ,उमंग ,उत्साह एवं इंद्रियां सभी कुछ ढीले पड़ने लगते हैं ।शरीर ढलान की अवस्था पर जाने लगता है , थोड़ा सा भी  भारी काम करने पर थकावट महसूस होने लगती है ,और यदि इस उम्र सीमा के बीत जाने पर शादी के बंधन में बधते हैं तो उस आनंद से वंचित हो जाएंगे जो कि आपको 20 से 30 साल के मध्य मिलने वाला होता है ।
कहावत है कि पैसे से सुख सुविधा की वस्तुएं खरीदी जा सकती हैं परंतु सुख नहीं खरीदा जा सकता ।।नौकरी करने से या पैसे कमाने से मनुष्य अमीर तो बन सकता है परंतु उस अमीरी का क्या फायदा जब आनंद ही न मिल सके इसी पर एक गीत भी प्रचलित है- तेरी दो टकिए की नौकरी में मेरा लाखों का सावन जाए ।

युवा और वृद्ध के सोच में कितना अंतर होता है उसका क्या दुष्परिणाम होता है उसकी जानकारी के लिए इसे भी पढ़ें
अलग-अलग सोच के क्या परिणाम होते हैं

आज के इस आधुनिक युग में नवयुवक नवयुवतीयां यह कह कर शादी से पीछा छुड़ाते हैं कि पहले हम पढ़ाई करके नौकरी प्राप्त करेंगे या अपने पैरों पर हो जाएंगे तब ही शादी करेंगे ।
तो दोस्तों हम उन लोगों से यह विशेष तौर पर कहना चाहेंगे कि पैसे कमाने का मूल उद्देश्य सुख सुविधा का आनंद उठाना ,ऐसो आराम की जिंदगी बिताना और अपने घर परिवार को खुश रखना होता है और यदि पैसे कमाने के चक्कर में परिवार को सुख नहीं मिला तो ऐसे पैसे का क्या फायदा ?
कुछ युवक और युवतियां यह कहते हैं कि शादी कर लेने के पश्चात परिवार में वृद्धि हो जाती है जिसके बाद पढ़ाई करना असंभव हो जाता है, तो हम उनसे यह कहना चाहेंगे कि मौजूदा समय में परिवार नियोजन हेतु तमाम प्रकार की विकल्प मौजूद हैं जिन्हें अपनाकर आप कुछ समय तक परिवार की वृद्धि रोकने में कारगर हो सकते हैं ,और जीवन का आनंद भी उठा सकते हैं साथ में पढ़ाई भी पूरी कर सकते हैं
इसे भी पढ़ें
अवसर और सफलता क्या है


हमारी इस विचार पर कृपया एक बार अवश्य ध्यान दें नौकरी करने का मूल उद्देश्य पैसा कमाना होता है जैसा की हमने ऊपर ही बताया है कि पैसे से आप सुख-सुविधा का सामान तो खरीद सकते हैं परंतु सुख नहीं खरीद सकते।
तो फ्रेंड्स आशा करता हूं कि आप मेरे इस विचार से सहमत होंगे मेरा यही विचार है कि 20 से 25 की उम्र तक शादी कर ले और पति और पत्नी दोनों आपसी सहमत से रहें और एक दूसरे का पढ़ाई में सहयोग करें साथ ही वैवाहिक जीवन का आनंद भी उठाएं दोस्तों अगर ऐसा नहीं करते हैं तो आपको इसका परिणाम उदाहरण द्वारा देखें---
 किशोरावस्था में विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण  एक प्राकृतिक प्रक्रिया है ,किशोरावस्था आने पर शरीर में  कुछ हार्मोनल परिवर्तन होते हैं  जिसके फलस्वरूप  युवकों में  आवाज का भारीपन होना , जनन अंगों में  उत्तेजना होना  ,और युवतियों में  स्तनों का विकास होना  ,गर्भाशय का विकास होना  ,मासिक धर्म का प्रारंभ होना  शुरू हो जाता है ।
 जिसके चलते वे एक दूसरे के प्रति आकर्षित होने लगते हैं इसी चाहत की पूर्ति हेतु  कुछ युवक-युवतियां गलत संगत में पड़ कर  हस्तमैथुन, गुदामैथुन  तक करने लगते हैं जिसका परिणाम बहुत घातक हो सकता है  और कुछ युवक-युवतियां तो  शारीरिक संबंध तक बना लेते हैं  जिससे  बाद में  परिवार का  मान सम्मान  समाज में खंडित होने लगता है  तो ऐसा ना हो  समय रहते यदि कार्य पूर्ण कर लिया जाए  तो ऐसी स्थिति ही ना आए नीचे दिया गया उदाहरण देखकर आप स्वयं सोचें क्या यह गलत है ---
जिस प्रकार आम के बृक्ष में फल लग जाने पर यदि उसे समय पर नहीं तोड़ा जाता है तो या तो वह डाल से टूट कर गिर जाएगा या फिर उसे पक्षी खा जाएंगे ।तो ऐसी स्थिति  आपका भी न हो नहीं तो आप गंभीर बीमारियों के शिकार भी हो सकते हैं परिवार का मान सम्मान जाएगा वह अलग से ।।
आशा करता हूं कि आपको इससे अवश्य कुछ लाभ होगा आज के लिए बस इतना 
Previous
Next Post »